RTI Full Form ॰ RTI क्या है और RTI के लिए Application कैसे जमा करें

RTI Full Form : स्वागत है, दोस्तो! इस पोस्ट में आज हम आपको RTI के बारे में सभी जानकारी हिंदी में बताने वाले हैं। जैसे की RTI Full Form Hindi Me, RTI क्या है और RTI के लिए Application कैसे जमा करें? RTI के लाभ इत्यादि सब कुछ आपको इस पोस्ट को पढ़ने पर जानने को मिलेगा।

अगर आप RTI के बारे में जानना चाहते हैं, तो इस पोस्ट को ध्यान से पूरा पढ़ें। आइए जानते हैं :

RTI Full Form

RTI Full Form – ‘Right to Information’ होता है। RTI का हिंदी में फ़ुल फ़ॉर्म – ‘सूचना का अधिकार’ है।

15 जून 2005 को भारतीय संसद द्वारा ‘आरटीआई अधिनियम, 2005’ को अपनाया गया था, इसके बाद 12 अक्टूबर 2005 को यह RTI Act क़ानून बनकर पूरे देश में लागू हुआ था। इसको लागू करने के मुख्य उद्देश्य देश की आम जनता को सूचना का अधिकार प्रदान करना है।

RTI क्या है?

RTI भारत की संसद द्वारा बनाया गया एक क़ानून है, जिसे 12 अक्टूबर 2005 को पूरे देश में लागू किया गया था। इस क़ानून के द्वारा आम जनता को सूचना पाने का अधिकार मिला। आरटीआई का लक्ष्य सार्वजनिक प्राधिकरण प्रबंधन के तहत डेटा तक पहुंच की सुरक्षा करना है, ताकि सरकारी अधिकारियों के कामकाज में जवाबदेही और पारदर्शिता सुनिश्चित हो सके।

RTI का दायरा क्या है ?

RTI अधिनियम पूरे भारत में लागू हो चुका है। जम्मू-कश्मीर राज्य में जम्मू-कश्मीर सूचना का अधिकार अधिनियम पहले से लागू था। फिर भी, भारत के संविधान के अनुच्छेद 370 के निरस्त होने के बाद, केंद्र शासित प्रदेश जम्मू और कश्मीर और केंद्रशासित प्रदेश लद्दाख केंद्रीय अधिनियम के तहत आ गया।

RTI में सभी संवैधानिक प्राधिकरण शामिल किए गए हैं। जिनमें कार्यकारी, विधायिका और न्यायपालिका, राज्य विधायिका या संसद के किसी अधिनियम द्वारा स्थापित या गठित कोई संगठन या निकाय सब कुछ इसमें शामिल किए गए हैं।

आरटीआई आवेदन कैसे दायर करें ॰ RTI Application Process

सूचना का अधिकार अधिनियम 2005 शासकीय सूचना के लिए नागरिकों के अनुरोधों पर समय पर प्रतिक्रिया देता है। आरटीआई आवेदन कैसे दर्ज करें।

RTI Application को RTI Portal ‘https://rtionline.gov.in’ पर जमा किया जा सकता है। RTI Application Process क्या है, आइए जानते है।

सबसे पहले RTI Portal की वेबसाइट ‘https://rtionline.gov.in’ को अपने कम्प्यूटर या मोबाइल में ओपन करें।

आरटीआई आवेदन जमा करने के लिए Submit Request विकल्प पर क्लिक करें।

Submit Request विकल्प पर क्लिक करने पर ‘आरटीआई ऑनलाइन पोर्टल’ के उपयोग के लिए दिशानिर्देश प्रदर्शित किए जाएंगे। इस स्क्रीन में RTI ऑनलाइन पोर्टल का उपयोग करने के लिए विभिन्न दिशानिर्देश हैं। नागरिक को चेकबॉक्स पर क्लिक करना होगा ‘मैंने ऊपर दिए गए दिशा-निर्देशों को पढ़ा और समझा है’ और फिर सबमिट बटन पर क्लिक करें।

फिर ऑनलाइन आरटीआई अनुरोध फॉर्म ‘Online RTI Request Form’ स्क्रीन पर प्रदर्शित किया जाएगा। मंत्रालय या विभाग जिसके लिए आवेदक आरटीआई दाखिल करना चाहता है, उसका चयन करें।

आवेदक को मोबाइल नंबर प्रदान करने की स्थिति में एसएमएस अलर्ट प्राप्त होगा। Form भरते समय जिनमें ‘*’ लगा हो उस विकल्प में जानकारी भरना अनिवार्य हैं जबकि अन्य वैकल्पिक हैं।

अगर कोई नागरिक बीपीएल श्रेणी का है, तो उसे ‘क्या आवेदक गरीबी रेखा के नीचे है’ विकल्प ‘हां’ का चयन करना होगा? फ़ील्ड और सहायक दस्तावेज़ फ़ील्ड में BPL कार्ड प्रमाणपत्र अपलोड करना होगा। (आरटीआई नियम, 2012 के अनुसार गरीबी रेखा से नीचे के किसी भी नागरिक को आरटीआई शुल्क का भुगतान करने की आवश्यकता नहीं है)

आवेदन जमा करने पर, एक unique registration number जारी की जाएगी, जिसे भविष्य में किसी भी संदर्भ के लिए आवेदक द्वारा संदर्भित किया जा सकता है।

यदि कोई नागरिक नॉन बीपीएल श्रेणी से संबंधित है, तो उसे आरटीआई नियम, 2012 में निर्धारित अनुसार 10 रुपये का भुगतान करना होगा।

आरटीआई RTI request application के लिए 3000 अक्षरों तक का लेटर लिखना होगा। यदि पाठ 3000 से अधिक वर्णों का है, तो आवेदन को सहायक दस्तावेज़ क्षेत्र में अपलोड किया जा सकता है।

फॉर्म में सभी विवरण भरने के बाद, ‘भुगतान करें’ विकल्प पर क्लिक करें।

विकल्प पर क्लिक करने पर, ऑनलाइन अनुरोध भुगतान फॉर्म प्रदर्शित होगा। इंटरनेट बैंकिंग, डेबिट कार्ड या क्रेडिट कार्ड से भुगतान किया जा सकता है।

‘पे’ बटन पर क्लिक करने के बाद, आवेदक को भुगतान के लिए एसबीआई भुगतान गेटवे के लिए निर्देशित किया जाएगा। भुगतान प्रक्रिया पूरी करने के बाद, आवेदक को आरटीआई ऑनलाइन पोर्टल पर वापस भेज दिया जाएगा।

आवेदन पत्र जमा करने पर आवेदक को एक ईमेल और एसएमएस अलर्ट मिलेगा।

इस वेब पोर्टल के माध्यम से दायर किया गया आवेदन इलेक्ट्रॉनिक रूप से संबंधित मंत्रालय / विभाग के नोडल अधिकारी तक पहुंच जाएगा, जो संबंधित सीपीआईओ को इलेक्ट्रॉनिक रूप से आरटीआई आवेदन प्रेषित करेगा।

निष्कर्ष ॰ RTI Full Form

इस पोस्ट में हमने आपको RTI के बारे में पूरी जानकारी दी है। जैसे RTI क्या है, RTI Act कब बना, RTI के क्या फ़ायदे हैं और RTI आज के समय में क्यों ज़रूरी है। साथ ही हमने आपको बताया की आरटीआई का फ़ुल फ़ॉर्म क्या है (RTI Full Form)।

आशा करते हैं की हमारी यह पोस्ट – RTI Full Form और RTI क्या है आपको ज़रूर पसंद आई होगी। इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया में ज़रूर शेयर करें।

Leave a Comment

close